History & Development Of Computer In Hindi | कम्प्यूटर का विकास और इतिहास

History & Development Of Computer In Hindi , कम्प्यूटर का विकास और इतिहास -. Computer शब्द की उत्पति लेटिन भाषा के “कम्प्यूट” से हुई जिसका अर्थ है “गणना” इसी कारण. Computer को हिंदी में “संगणक” कहते है

History & Development of Computer in Hindi

Abacus in Hindi

Computer के Development & History में Basic Arithmetic System (गणना) के लिए सबसे पहले अबेकस. (Abacus) नाम के उपकरण का प्रयोग किया किया गया Abacus का पूरा नाम. Abundant beads , Addition & Calculation Utility System है जिसका. Invention चीन में 3000 वर्ष पूर्व हुआ था जिसमे मोतियों की 10 छडे होती थी हर एक. Rode (छड़) में 10 मोती होते थे इसमें लगे मोतियों को Ones और छड़ को बार कहा जाता है

History & Development of Abacus in Hindi
History & Development of Abacus in Hindi

Napier’s Bones in Hindi

Computer के Development & History में 1614 ई. में स्कॉटलैंड के Merchinston के जॉन नेपियर (John Napier) ने. Napier’s Bones (नेपियर ‘स बोन्स) का आविष्कार किया जो. Manual तौर पर वर्ग , घनो की जोड़ , गुणा व भाग करने के लिए बनाया गया था इसे. Rabdology भी कहा जाता है इसके निर्माण में धातु की छड़ , लकड़ी और हाथीदांत का उपयोग किया गया

History & Development Of Napier’s Bones Computer In Hindi
History & Development Of Napier’s Bones Computer In Hindi

Slide Rule in Hindi

Development & History Of Slide Rule एक Mechanical Analog Computer है जिसका आविष्कार 1622 ई. में. William Oughtred (विलियम औहट्रैंड) ने किया जो वर्तमान में. Scale के रूप में काम में ली जाती है किन्तु इसका. Main Use गुणा , भाग , घातांक , मूल , लघुगणक , त्रिकोणमिति जैसे कार्यो के लिए किया जाता है. Slide Rule के तीन भाग होते है Frame & Base , Slide , Runner & Glass

History & Development Of Slide Rule Computer In Hindi
History & Development Of Slide Rule Computer In Hindi

Pascalin in Hindi

1642 ई. में ब्लैज पास्कल (Blasie Pascal) ने पास्कलिन (Pascalin) का आविष्कार किया जो जोड़ , बाकी कर सकता है. Pascalin में पहिये , Gear और सिलिंडर का प्रयोग किया गया ये एक प्रकार का. Mechanical Digital Calculator है Pascalin को. Adding Machine भी कहा जाता है क्योकि इसका मुख्य कार्य Addition करने के लिए किया जाता है

History & Development Of Pascalin Computer In Hindi
History & Development Of Pascalin Computer In Hindi

Liebniz Step Reckoner in Hindi

1872 ई. में गॉट फ्रीड विल्हेल्म लाइब्निज़ (Gott Fried Wilhelm Liebniz) ने. Liebniz Step Reckoner (लाइब्निज़ स्टेप रिकॉनेर) का आविष्कार किया जो वर्तमान में. Calculator के रूप में काम में लिया जाता है यह Pascalin का ही एक जटिल रूप है

History & Development Of  Liebniz Step Reckoner Computer In Hindi
History & Development Of Liebniz Step Reckoner Computer In Hindi

Jacquard Loom in Hindi

Computer के Development & History में 1801 ई. में जोसेफ जैक्वार्ड (Joseph Jacquard) ने. Jacquard Loom (जैक्वार्ड लूम) का आविष्कार किया इसमें. First Time पंचकार्ड की चैन का उपयोग किया गया इसका मुख्य कार्य कपड़ो पर. Design बनाने के लिए किया जाता है

History & Development Of Jacquard Loom Computer In Hindi
History & Development Of Jacquard Loom Computer In Hindi

Differential Machine in Hindi

Computer के Development & History में 1822 ई. में चार्ल्स बैबेज (Charlas Babbage) ने. Differential Machine (डिफरेंशियल मशीन) का आविष्कार किया इसमें. Gear और Shaft का उपयोग किया गया साथ ही ये भाप से चलने वाली पहली मशीन थी साथ

History & Development Of Differential Machine Computer In Hindi
History & Development Of Differential Machine Computer In Hindi

Analytical Engine in Hindi

1837 ई. में चार्ल्स बैबेज (Charlas Babbage) ने Analytical Engine (एनालिटिकल इंजन) का आविष्कार किया ये. Differential Machine का ही विकसित रूप था इसी ने आधुनिक. Computer की नींव रखी इसमें मुख्य तौर पर पांच भाग थे जैसे. Input Unit , Store Unit , Algorithm ,Control Unit & Output Unit

History & Development Of Analytical Engine Computer In Hindi
History & Development Of Analytical Engine Computer In Hindi

Notes For History & Development of Computer

  1. चार्ल्स बैबेज (Charlas Babbage) को ही कम्प्यूटर का जनक (Father Of Computer) कहा जाता है
  2. कम्प्यूटर का पहला प्रोग्राम ऑगस्ट ऐडा बायरन ने 1840 ई. में बनाया जो कलनविधि (Algorithm) पर आधारित था

Zuse – 3  in Hindi

Computer के Development & History में 1941 ई. में कोनार्ड ज़ूसे (Konrad Zuse) ने बर्लिन में. Zuse-3 (ज़ूसे-3) का आविष्कार किया जो द्विआधारी. Binary Arithmetic And Floating Point Arithmetic (अंकगणित व चलबिन्दु अंकगणित) पर आधारित कार्य करता है यह. First Electronic & Digital Computer था किन्तु 21 december 1943 को एक युद्ध के कारण ये नष्ट हो गया

History & Development Of Zuse 3 Computer In Hindi
History & Development Of Zuse 3 Computer In Hindi

Vacuum Tube in Hindi

Computer के Development & History में 1904 में Vacuum Tube का आविष्कार. John Ambrose Fleming (जॉन एम्ब्रोज़ फ्लेमिंग) ने किया इसे Electron Tube भी कहा जाता है जो. High Walt विद्युत को Control करता है

History & Development Of Vacuum Tube Computer In Hindi
History & Development Of Vacuum Tube Computer In Hindi

Development & History Of EDVAC Computer In Hindi

Computer के Development & History में अगस्त 1944 को EDVAC (Electronic Discrete Variale Automatic Computer) का आविष्कार अमेरिका की. University Of Pennsylvania (पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय) के जॉन मौचली (John Mauchly) व जे. प्रेस्पर एकेर्ट (J. Presper Eckert) ने किया जिसका C.P.U. – 6000 Vacuum Tubes , 12000 Crystal Diode से बना हुआ था तथा. RAM के रूप में Magnetic Drums का प्रयोग किया गया 
Weight :- 7850 Kilogram 
Space :- 490 Square Feet 
Power :- 56 Watt Hour 
Output के रूप में Punch Card 
Input के रूप में Card Reader

Development & History Of EDVAC Computer In Hindi
Development & History Of EDVAC Computer In Hindi

History & Development Of ENIAC Computer in Hindi

14 फरवरी 1946 को ENIAC (Electronic Numerical Integrator And Computer) का आविष्कार अमेरिका की. University Of Pennsylvania (पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय) के जॉन मौचली (John Mauchly) व जे. प्रेस्पर एकेर्ट (J. Presper Eckert) ने किया जिसका C.P.U. :- 17468 Vacuum Tubes . 7200 Crystal Diode , 1500 Relay , 10000 Capacitor , 500000 Hand Solder . 70000 Resistor से बना हुआ था तथा Store के रूप में. Magnetic Drums का प्रयोग किया गया 
Weight :- 30 Ton 
Space :- 1800 Square Feet 
Power :- 150 Watt Hour 
Output के रूप में Punch Card 
Input के रूप में Card Reader 
Generally Use For Scientific Calculation

History & Development Of ENIAC Computer in Hindi
History & Development Of ENIAC Computer in Hindi

Transistor in Hindi

16 दिसम्बर 1947 में Transistor का आविष्कार विलियम शॉकली (William Shockley) ने किया

History & Development Of EDSAC Computer in Hindi

6 मई 1949 को EDSAC (Electronic Delay Storage Automatic Computer) का आविष्कार इंग्लैंड की. Cambridge University (कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय) के मॉरिस विल्क्स (Maurice Wilkes) ने किया

History & Development Of EDSAC Computer in Hindi
History & Development Of EDSAC Computer in Hindi

Note :- EDVAC & EDSAC दोनों Program Stores Computer थे 

History & Development Of UNIVAC Computer in Hindi

14 जून 1951 को UNIVAC (Universal Automatic Computer) का आविष्कार अमेरिका की. University Of Pennsylvania (पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय) के जॉन मौचली (John Mauchly) व जे. प्रेस्पर एकेर्ट (J. Presper Eckert) ने किया जिसका C.P.U. – 5200 Vacuum Tubes से बना हुआ था तथा. Stores के रूप में Magnetic Tape का प्रयोग किया गया इसमें. Peripheral Parts सम्मिलित किये गये यह First Commercial Computer था 
Weight :- 13 Ton 
Power :- 125 Watt Hour 
Generally Use For Scientific Calculation

History & Development Of UNIVAC Computer in Hindi
History & Development Of UNIVAC Computer in Hindi

Development ,History & Generation Of Computer

कम्प्यूटर की पीढ़ियों से आशय एक समय अंतराल में Computer की. Technology में हुए परिवर्तन से है वर्तमान में. Computer की 5 पीढ़िया आ चुकी है जिनका वर्णन नीचे दिया गया है

First Generation (प्रथम पीढ़ी)

First Generation का समय 1946 से 1959 माना जाता है प्रथम पीढ़ी के Computers के CPU में. Main Memory के लिए Magnetic Drum और Circuitry के लिए Vacuum Tubes का उपयोग किया गया. Vacuum Tubes की अधिकता से बहुत अधिक गर्मी उत्पन्न होती थी जिसके लिए. Air Conditioner का प्रयोग करना पड़ता था इन्ही. Vacuum Tubes की वजह से इनका आकार भी बहुत बड़ा था इस पीढ़ी के. Computers को Input देने के लिए और Output के लिए Punch Card . Paper Tape , Magnetic Tape का प्रयोग किया जाता था. First Generation के Computers को चलाने के लिए Machine Language का ही उपयोग होता था

प्रथम पीढ़ी के Computers निम्न थे – ENIAC , EDVAC , UNIVAC , IBM 701 , IBM 650 Etc.

Second Generation (द्वितीय पीढ़ी)

Second Generation की समयावधि 1956 से 1965 तक रही Second Generation के Computers के. CPU में Vacuum Tubes को हटाकर Transistor का उपयोग किया गया साथ ही. Primary Memory के रूप में Magnetic Core और Secondary Memory के रूप में. Magnetic Tape & Magnetic Disk का Use किया गया Second Generation में. Batch Operating System का प्रयोग किया गया साथ ही Second Generation में ही. High Level Programming Language जैसे – FORTRAN , COBOL की शुरुआत हुए

द्वितीय पीढ़ी के Computers निम्न थे – IBM 1620 , IBM 7094 , CDC 1604 , Honeywell 400 , CDC 3600 , UNIVAC 1108 Etc.

Third Generation (तृतीय पीढ़ी)

Third Generation की समय 1965 से 1975 तक माना जाता है Third Generation के Computers के. CPU में Transistor को हटाकर Integrated Circuits का उपयोग किया गया साथ ही. Primary Memory के रूप में Large Capacity Disk और Secondary Memory के रूप में. Magnetic Tape का Use किया गया Third Generation में. Time Sharing Operating System & Multi Programming Operating System का प्रयोग किया गया साथ ही Third Generation की. High Level Programming Language जैसे – FORTRAN- IV , Basic , Pascal , Algol-68 रही

तृतीय पीढ़ी के Computers निम्न थे – IBM 360/370 Series , Honeywell 6000 , PDP , TDC 316 , CDC 6600 Etc.

Fourth Generation (चतुर्थ पीढ़ी)

Fourth Generation की समयावधि 1975 से 1988 तक रही Third Generation के Computers के. CPU में पहली बार Microprocessor का उपयोग किया गया साथ ही. Primary Memory के रूप में Semiconductor Memory और Secondary Memory के रूप में. Magnetic Tapes & Floppy Disk का Use किया गया Third Generation में. Graphics User Interface Operating System और Multiprocessing का प्रयोग किया गया साथ ही Third Generation में सभी. High Level Programming Language जैसे – C++ , Data Base का अत्यधिक उपयोग शुरू हुआ इसी पीढ़ी में. Personal Computer & Desktop Computer का जन्म हुआ साथ ही Very Large Scale Integrated) Technology का उपयोग किया गया

चतुर्थ पीढ़ी के Computers निम्न थे – DEC 10 , APPLE II , STAR 1000 , PDP 11 , VAX 9000 . CRAY 1 & CRAY X MP (Super Computer) Etc.

Fifth Generation (पंचम पीढ़ी)

Fifth Generation की समय 1988 से आज तक माना जाता है Fifth Generation के Computers के. CPU में Ultra Large Scale Integrated Technology के Microprocessor का उपयोग किया गया साथ ही. Primary Memory के रूप में Large Capacity Hard Disk और Secondary Memory के रूप में. Magnetic Tape & RAID का Use किया गया Fifth Generation में. Time Sharing Operating System & Multi Programming Operating System का प्रयोग किया गया साथ ही Fifth Generation की. High Level Programming Language जैसे – JAVA , VB , NET रही इसी पीढ़ी में Artificial. Intelligence की अवधारणा सामने आयी जैसे – Amazon Alexa , Voice Recognition Etc.

पंचम पीढ़ी के Computers निम्न थे – IBM , Pentium , PARAM , Notebook , Ultra Book Etc.

Note :- आप हमारे Youtube Channel से RSCIT , Basic , CCC और Tally Course भी सीख सकते है

Join Our Telegram

Important Links

16 thoughts on “History & Development Of Computer In Hindi | कम्प्यूटर का विकास और इतिहास”

Leave a Comment

error: Content is protected !!