Web Browser in Hindi | वेब ब्राउज़र क्या है इंटरनेट ब्राउज़र की जानकारी

Web Browser in Hindi , वेब ब्राउज़र क्या है इंटरनेट ब्राउज़र की जानकारी – Web Browser एक सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन होता है. जिसे अपने मोबाइल , लैपटॉप , डेस्कटॉप में कभी भी कही भी उपयोग में लिया जा सकता है. वेब ब्राउज़र का आशय Internet पर किसी भी Image , Text , Video , Audio आदि को Search करने से है. इसके बिना Internet का उपयोग नहीं किया जा सकता. Web Browser का आविष्कार भी Internet के साथ ही हुआ.

What is Web Browser in Hindi (वेब ब्राउज़र क्या है)

वेब ब्राउज़र एक प्रकार का Application Software होता है. Internet का उपयोग करने के लिए वेब ब्राउज़र की आवश्यकता होती है. जिस भी Device में Internet का उपयोग किया जाता है. उसमे Web Browser Software Install होना जरुरी है. एक Web Browser User Interface , Layout Engine , Redding Engine , Java Script , Interpreser , Network & Data Components से बना होता है.

Web Browser in Hindi | वेब ब्राउज़र क्या है इंटरनेट ब्राउज़र की जानकारी
Web Browser in Hindi | वेब ब्राउज़र क्या है इंटरनेट ब्राउज़र की जानकारी

क्योकि एक Website में लिखे गए वेब पेज में अनेक प्रकार की सूचनाए होती है. जो अलग अलग भाषाओ (जैसे HTML – Hyper Text Markup Language , CSS – Cascading Style Sheet , PHP – PHP Hypertext Preprocessor आदि ) का उपयोग करके ही बने होते है. जिसे प्रत्येक उपयोगकर्ता पढ़ने में असमर्थ होता है. जो वेबसाइट की भाषा को उपयोगकर्ता की भाषा में बदलता है. जिसे उपयोगकर्ता आसानी से पढ़ सके.

History of Web Browser in Hindi (वेब ब्राउज़र का इतिहास)

WWW Web Browser in Hindi – एक कम्प्यूटर की सूचनाओं को अन्य उपकरणों में Share करने के उद्देश्य से Tim Benner’s Lee ने सबसे पहला Web Browser 1991 में World Wide Web (WWW) बनाया गया. जिसे वर्तमान में Nexus के नाम से जाना जाता है. यह हाइपरलिंक के माध्यम से कार्य करता है. हाइपरलिंक एक एचटीएमएल टैग होता है. इन्ही HTML Tags को समझने के लिए ही Web Browser का निर्माण किया गया था.

Mosaic Web Browser in Hindi – यह पहला ग्राफ़िक्स के लिए उपयोग में लिया जाने वाला वेब ब्राउज़र था. जिसे 26 अगस्त 1993 को नेशनल सेण्टर फॉर सुपरकंप्यूटिंग एप्लीकेशन (NCSA) द्वारा मार्क एंड्रीसीन और एरिक बीना द्वारा विकसित किया गया. लेकिन 7 जनवरी 1997 के बाद मोज़ेक को बंद कर दिया गया.

Netscape Navigator Web Browser in Hindi – इस वेब ब्राउज़र को 13 अक्टूबर 1994 को मार्क एंड्रीसीन ने विकसित किया. जो बहुत जल्द ही लोकप्रिय हुआ.

Internet Explorer Web Browser in Hindi – Netscape Navigator के बाद Microsoft Corporation ने Window 95 के साथ अगस्त 1995 में लॉन्च किया. जिसके उपयोग पर किसी प्रकार का कोई भी प्रतिबंध नहीं होने के कारण Freeware के रूप में प्रयोग होने लगा. जिसके कारण वर्ष 2002 के अंत तक 95% बाजार में इस वेब ब्राउज़र की हिस्सेदारी हो गयी.

Opera Web Browser in Hindi – इस वेब ब्राउज़र को Opera Software द्वारा 1995 में बनाया गया. जो 40 भाषाओं में कार्य करता है. इसे Windows , Linux , Mac OS आदि सभी Operating System में उपयोग के लिए तैयार किया गया. लेकिन मोबाइल के लिए Opera Mini Browser को तैयार किया गया.

Apple Safari Web Browser in Hindi – इस वेब ब्राउज़र को Apple .Inc द्वारा 7 January 2003 में विकसित किया. जो Apple Company के Product में ही उपयोग किया जाता है.

Browser in Hindi

Mozilla Firefox Web Browser in Hindi – यह ब्राउज़र Mozilla Foundation और Corporation द्वारा 9 November 2004 में लॉंच किया गया. यह एक अन्य ब्राउज़र से काफी हद तक तेज और User Friendly था. जिसमे Gmail का उपयोग सबसे अच्छी तरह किया जा सकता था.

Google Chrome Web Browser in Hindi – 11 December 2008 में Google Company ने Chrome Browser को विकसित किया. जो लगभग 50 से अधिक भाषाओं को Support करता है तथा प्रत्येक Device (Windows , Linux , Mac OS , Android) में Security के साथ उपयोग किया जा सकता है. वर्तनाम में Google Chrome दुनिया का सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाला वेब ब्राउज़र बन गया.

Epic Web Browser in Hindi – इस ब्राउज़र 15 July 2010 को बैंगलोर की हिडेन सॉफ्टवेयर रिफलक्स कम्पनी के श्री आलोक भारद्वाज द्वारा बनाया गया. जो पहला भारतीय Browser है. जिसे दुनिया भर में उपयोग में लिया जाता है. इसमें 1500 से ज्यादा Themes और 12 भारतीय भाषाओं के साथ कार्य करता है.

Microsoft Edge Web Browser in Hindi – Microsoft Corporation ने 2 August 2016 को Internet Explorer को बदल कर उसका नाम Microsoft Edge कर दिया जो Window 10 से Upper Version में दिया जा रहा है

इसके अतिरिक्त अन्य ब्राउज़र Konqueror , Lynx , UC Browser , Pale Moon , Gnome , Slim , Avant , Tor Omni Web , Sea Monkey , Flock आदि होते है

वेब ब्राउज़र का उपयोग कैसे करे

Web Protocol से बने वेब पेज को देखने के लिए वेब ब्राउज़र का उपयोग किया जाता है. Protocol एक प्रकार के नियम होते है जो वेब क्लाइंट और वेब सर्वर से जुडने की अनुमति देते है.

Address Bar – Browser में सबसे ऊपर आने वाली पट्टी जहाँ वेब पेज का यूआरएल लिखा जाता है. यहाँ लिखे गए URL (Uniform Resource Locator) की Request Browser Web Server भेजता है.

URL (Uniform Resources Locator)

यह वेबपेज के Web Server का Address होता है. जहाँ सूचनाएं लिखी होती है. जैसे – https://www.rgcei.live यह एक Website का URL है. यह यूआरएल Protocol , WWW , Website Name और DNS से मिलकर बना होता है.

  1. Protocol :- यह एक प्रकार के नियम होते है. जो Network के अन्दर Data को Systematic & Safe तरीके से Transfer किया जा सके. जैसे –
    • TCP (Transmission Control Protocol) – यह Data को निश्चित कम्प्यूटर में पहुंचाता है.
    • IP (Internet Protocol) – यह कम्प्यूटर की पहचान होती है. जैसे – 192.168.1.1
    • SMTP (Simple Mail Transfer Protocol) – यह Mail भेजते समय कार्य करता है.
    • POP (Post Office Protocol) – यह Mail प्राप्त करते समय कार्य करता है.
    • IMAP (Internet Message Access Protocol) – यह Mail को Store करके रखता है.
    • Http (Hyper Text Transfer Protocol) – यह Web Page को सामने लाने का कार्य करता है.
    • Https (Hyper Text Transfer Protocol Secure) – यह Web Page को Safely सामने लाने का कार्य करता है.
    • FTP (File Transfer Protocol) – यह फाइलो को Copy , Upload , Download करने का कार्य करता है.
  1. WWW (World Wide Web) :- यहाँ पर सारी Websites को Store करके रखा जाता है.
  2. Website :- Webpage या File का समूह जहाँ सूचनाएं रखी जाती है.
  3. DNS (Domain Name System) – यह Website की पहचान होती है. जैसे – .com (व्यापार से सम्बन्धित) , .edu (शिक्षा से सम्बन्धित) , .net (नेटवर्क से सम्बन्धित) , .org (संगठन से सम्बन्धित) , .gov (सरकार से सम्बन्धित) , .info (सूचना से सम्बन्धित) , .in (भारत से सम्बन्धित) , .us (संयुक्त राष्ट्र से सम्बन्धित).
  4. Home Page – ऐसा Web Page जो Website को Open करने पर सामने आता है.
  5. Search Engine – ऐसा पेज या Application जो इंटरनेट पर सामग्री Search करने में सहायता करता है. जैसे – Google Chrome , MSN , Bing , Yahoo , Ask Etc.

Join Our Telegram

Frequently Asked Question

वेब ब्राउज़र क्या है ?

वेब ब्राउज़र एक प्रकार का Application Software होता है. Internet का उपयोग करने के लिए Device मे Web Browser Software Install होना जरुरी है. एक Web Browser User Interface , Layout Engine , Redding Engine , Java Script , Interpreser , Network & Data Components से बना होता है.

Web Browser कौन कौन से होते है ?

WWW , Mosaic , Netscape Navigator , Internet Explorer (Microsoft Edge) , Opera , Apple Safari , Mozilla Firefox , Google Chrome , Epic , Konqueror , Lynx , UC Browser , Pale Moon , Gnome , Slim , Avant , Tor Omni Web , Sea Monkey , Flock आदि

पहला वेब ब्राउज़र कौनसा है ?

पहला वेब ब्राउज़र WWW (World Wide Web) है जो एक कम्प्यूटर की सूचनाओं को अन्य उपकरणों में Share करने के उद्देश्य से Tim Benner’s Lee ने सबसे पहला Web Browser 1991 में World Wide Web (WWW) बनाया गया. जिसे वर्तमान में Nexus के नाम से जाना जाता है.

माइक्रोसॉफ्ट ऐज को कब लॉन्च किया गया ?

Microsoft Corporation ने 2 August 2016 को Internet Explorer को बदल कर उसका नाम Microsoft Edge कर दिया जो Window 10 से Upper Version में दिया जा रहा है

Address Bar क्या होती है ?

Browser में सबसे ऊपर आने वाली पट्टी जहाँ वेब पेज का यूआरएल लिखा जाता है. यहाँ लिखे गए URL की Request Browser Web Server भेजता है.

यूआरएल क्या होता है ?

यह वेबपेज के Web Server का Address होता है. जहाँ सूचनाएं लिखी होती है. जैसे – https://www.rgcei.live एक Website का URL है. यह यूआरएल Protocol , WWW , Website Name और DNS से मिलकर बना होता है.

प्रोटोकॉल क्या होता है ?

यह एक प्रकार के नियम होते है. जो Network के अन्दर Data को Systematic & Safe तरीके से Transfer किया जा सके. जैसे – TCP (Transmission Control Protocol) , IP (Internet Protocol) , SMTP (Simple Mail Transfer Protocol) , Http (Hyper Text Transfer Protocol) , Https (Hyper Text Transfer Protocol Secure) , FTP (File Transfer Protocol) आदि

Leave a Comment

error: Content is protected !!